शब्द

एक पत्रकार होते हुए, उसने बहूत लोगों के जीवन कि कहानियाँ लिखी थी, जब खुद के जीवन के कहानी लिखने की बारी आई , कागज़ खाली ही रहा. और वो खाली कागज़ ही सब बयाँ कर गया

12 Comments

Add Yours

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *