नशा

पर मैं शराब पीना चाहती हूँ और मैं पीकर रहूंगी दीपल ने कहा|

आख़िर क्यों, क्या है शराब में ऐसा जो तुम अपने बेस्टफ्रेंडकी बात नही मानोगी? – विवान ने पूछा|

क्या तुम मुझे बिना शराब पिलाए, शराब के नशे का एहसास दिला सकते हो? नही ना! तो इस रविवार ऑफीसपार्टी में दोनों शुरू करते है! – दीपल की ये बात विवान को कुछ चुभ सी गयी| सहकर्मियों की बातों में आकर दीपल का यूँ बहकना उसे बुरा लगा| दीपल के मातापिता ने विवान पर विश्वास कर ही उसे घर से इतनी दूर नौकरी करने भेजा पर अब वो करे भी तो क्या?

शनिवार को क्लाइंटमीटिंग और डिनर की वजह से देर होने पर विवान दीपल को अपने साथ ले आया| पर जाने क्यों, फ्लेट की जगह विवान दीपल को छत पर ले गया | वही बिस्तर, चाय का सामान और कुछ किताबें रखी थी| अंधेरी रात, तारों का साथ और चाय की चुस्कियों के बाद भी दोनों ने एक दूसरे को चिढ़ाने वाली बातों को जारी रखा |

जाने कब रात के चार बज गये| ठंडी हवा के झोंको से काँप रहे शरीरों से अब फुसफुसाहट की जगह हँसी के ठहाके निकल रहे थे, आख़िर विवान दीपल को अपनी सबसे पसंदीदा किताब से कुछ पढ़कर जो सुना रहा था| दीपल की नींद के नशे में उन्नींदी लाल आँखे देख विवान ने कहासो जाओ, कल पार्टी में तुम्हे शराब पीनी है ना|

शराब नहीं, तुम्हारे साथ किताबों का नशा करना है मुझे दीपल ने जवाब दिया|

26 Comments

Add Yours
  1. 1
    Nikita

    A touch of positivity.
    Whenever i get lost in life and seek for questions, i always prefer to read more books and that’s how books give you peace and teaching.
    Great story sir. 😊✌

    4+
  2. 2
    Ekta

    Amazing story :very good moral it’s all about giving your time to someone …even a bad person can change in good company. .in this fast changing world we forgot to talk ..conversation is key for all problems. .”bottle nahi ..dil kholo”

    4+
  3. 6
    Jyoti

    It’s an inspiration for whom who are indulging in bad habits day by day as youth is completely destroying themself in such habits. Young people are getting interested towards drinking and other habits. Made a nice attempt to aware people that happiness and relaxation of mind exist without drinking also.

    2+
  4. 8
    devendra pandey

    शराब नहीं, तुम्हारे साथ किताबों का नशा करना है मुझे….

    esi me sab kuch kh diya

    1+
  5. 10
    Gurpreet Kaur

    Very Nice Story👍🏻
    Motvitional & Show love n Care too. In This Short Story Simply We Adopt The Positive Attitude Towards Life……

    2+
  6. 12
    Sonali yadav

    Short,simple and very sweet. A message which is delivered simply, not imposing or questioning anybody. Just describing things simply in the most lovely manner.😊

    1+
  7. 13
    Pranjul

    Not sure if this was the intent behind writing this story, but I drew following 2 inferences out of it:

    -> It’s not necessary to have Wine only to get that intoxication (nasha). One can find this nasha in any of the other things or passion and enjoy it.. !
    -> A true friend will try his best with various alternatives to stop you going into the dark.

    A nice short one 🙂

    2+
  8. 15
    Hema

    Amazing!! I can assume myself on the other side (girl’s). One needs only time (quality time) in which she can be herself. Just 2 lines explained millions of untold stories. <3

    1+
  9. 17
    pooja saraswat

    Good read to an honest look what sober and happy life is like.
    The best part is she recognised the real ‘ nasha’ before taking alcohol in her life.
    Must read story for todays generation..

    1+
  10. 19
    मनीष

    शाशब्दो में जो नशा है वो और कहाँ ???
    बहुत ही शानदार ।।।

    2+
  11. 20
    Deep Singh

    कहानी का शीर्षक और विषयवस्तु प्रभावशील हैI नशा केवल शराब में ही नहीं बल्कि पढ़ने और किसी के साथ में भी होता है I वाक्य विन्यास , संक्षिप्त और सटीक संवाद है I कहानी का अंत पात्र के अंतिम संवाद के साथ करना लेखक की साहित्य के प्रति रुझान को प्रदर्शित करता है

    1+

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *